THN Network


NEW DELHI:
दिल्ली की शिक्षा मंत्री आतिशी (Atishi) ने रविवार को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में खतरनाक स्तर पर वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) को देखते हुए 10 नवंबर तक प्राइमरी स्कूलों (Delhi Primary School)  को बंद करने का सरकार (Delhi Government) ने फैसला लिया है. इस दौरान ग्रेड 6 से 12 के लिए स्कूलों को ऑनलाइन कक्षाओं में शिफ्ट होने का विकल्प दिया गया है. 

दिल्ली सरकार में शिक्षा मंत्री आतिशी ने कहा​ दिल्ली में वायु प्रदूषण का उच्च स्तर स्वास्थ्य के लिहाज से अपने उच्चतम स्तर तक पहुंच गया है. खासकर यह बच्चों के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदेह साबित हो सकता है. यही वजह है कि दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली के सभी प्राइमरी स्कूलों को 10 नवंबर 2023 तक बंद करने का निर्णय लिया है. 

दिल्ली के हर इलाके में प्रदूषण का खतरा


बता दें कि दिल्ली में रविवार को भी लोगों को प्रदूषण से राहत मिलने की दूर दूर तक कोई संभावना नहीं है. केंद्रीय पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के मुताबिक दिल्ली के शादीपुर इलाके में लोगों को सबसे ज्यादा पॉल्यूशन का सामना करना पड़ा. विगत तीन दिनों से दिल्ली में वायु गुणवत्ता का स्तर गंभीर श्रेणी में बनी हुई है. दिल्ली के आरके पुरम में एक्यूआई 489, द्वारका सेक्टर आठ में 486, ओखला फेज टू में 484, पटपड़गंज में 464, आईजीआई एयरपोर्ट (टी3) के आसपास 480, बवाना में 479, मुंडका में 474, नजफगढ़ में 472 दर्ज किया गया. दिल्ली के अन्य इलाकों में भी एक्यूआई का स्तर कमोवेश यही है.

दिल्ली के इंडिया गेट इलाके में भी प्रदूषण की स्थिति क्रिटिकल है. दिल्ली के कुतुब मीनार इलाके में ड्रोण की मदद से ली गई तस्वीर में भी बताया गया है कि धुंध की मोदी परत दक्षिण दिल्ली इलाके में बनी हुई है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक यह स्थिति आगामी कुछ दिनों तक बने रहने की संभावना है.