THN Network


नई दिल्ली:
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज ED यानी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश नहीं होंगे. मिल रही जानकारी के अनुसार सीएम केजरीवाल मध्यप्रदेश के सिंगरौली के लिए रवाना हो गए हैं, जहां वह एक चुनाव प्रचार में हिस्सा लेंगे. सिंगरौली में उनके साथ पंजाब के सीएम भगवंत मान भी होंगे. मिल रही जानकारी के अनुसार सीएम अरविंद केजरीवाल मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के अपने तीन दिनों के दौरे पर रवाना हो गए हैं. अपने दौरे के पहले दिन यानी गुरुवार को सीएम अरविंद केजरीवाल मध्यप्रदेश के सिंगरौली में एक रोड शो करेंगे. इस दौरान उनके साथ पंजाब के सीएम भगवंत मान भी मौजूद होंगे. जबकि सीएम केजरीवाल तीन और चार नवंबर को छत्तीसगढ़ के रायपुर और बिलासपुर में चुनाव प्रचार करेंगे. 
बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल को आज ईडी के समक्ष पेश होना था. लेकिन इससे पहले ही केजरीवाल ने ईडी को एक जवाब लिखा था. सीएम केजरीवाल का लिखा जवाब ईडी को मिल गया है. अब ईडी इस मामले में आगे क्या एक्शन लेना है इसपर विचार कर रही है. 

"मुझे चुनाव प्रचार से रोकना चाहते हैं"

इस जवाब में उन्होंने कहा था कि उनके खिलाफ BJP के कहने पर ही ये नोटिस भेजा गया है. साथ ही उन्होंने कहा था कि ED को चाहिए कि वह इस मामले में अपना नोटिस तुरंत वापस ले. ED के समन पर केजरीवाल ने कहा था कि ये इसलिए भी किया जा रहा है ताकि मैं चुनाव प्रचार न कर सकूं. नोटिस गैर-कानूनी और राजनीति से प्रेरित है. 

"मुझे मिले समन में किसी तरह की डिटेल नहीं"

सीएम केजरीवाल ने ईडी को दिए अपने जवाब में कहा है कि यह साफ नहीं है कि आपने मुझे किस नाते समन भेजा है, एक गवाह के तौर पर या फिर संदिग्ध के तौर पर. इस समन में किसी तरह की डिटेल भी नहीं दी गई है. यह भी नहीं बताया गया कि मुझे व्यक्तिगत तौर पर बुलाया गया है या फिर मुख्यमंत्री के तौर पर या फिर आम आदमी पार्टी के मुखिया के तौर पर. उन्होंने आगे लिखा है कि जिस दिन ED द्वारा समन जारी किया गया उस दिन भाजपा नेताओं ने बयान देना शुरू किया कि मुझे गिरफ्तार कर लिया जाएगा. सीएम केजरीवाल ने आरोप लगाया कि मेरी छवि को खराब करने के लिए 30 अक्टूबर की शाम को ही भाजपा नेताओं को ED का समन लीक किया गया. 30 अक्टूबर की दोपहर मनोज तिवारी ने बयान दिया था कि मुझे गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

सीएम केजरीवाल ने आगे कहा कि मैं दिल्ली का मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी का राष्ट्रीय संयोजक हूं और पांच राज्यों में चुनाव होने हैं जहां प्रचार करने के लिए मैं स्टार प्रचारक हूं. मुझे इन राज्यों में यात्रा करनी है और अपने कार्यकर्ताओं को राजनीतिक मार्गदर्शन देना है. मुझ पर आधिकारिक प्रशासनिक और आधिकारिक जिम्मेदारियां हैं जिसके लिए मेरी उपस्थिति आगामी दिवाली आगामी दिवाली के दौरान भी आवश्यक है.

"AAP को खत्म करना चाहता है केंद्र"

बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल को मिले ईडी के समन के बाद AAP के वरिष्ठ नेता और दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा था कि केंद्र सरकार का एक ही मकसद है- किसी भी कीमत पर आम आदमी पार्टी को खत्म करना. इसके लिए वे कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं, जिसमें फर्जीवाड़ा भी शामिल है. विचार अरविंद केजरीवाल को जेल भेजने और आम आदमी पार्टी को नष्ट करने का है.

उन्होंने एनडीटीवी के साथ एक स्पेशल इंटरव्यू में दावा किया था कि केजरीवाल को केंद्रीय एजेंसी द्वारा गिरफ्तार किया जाएगा. जब उनसे पूछा गया कि क्या ऐसा होने पर पार्टी के पास प्लान बी तैयार है, तो उन्होंने कहा, "फिलहाल, मुझे नहीं पता और मुझे नहीं लगता कि इस बारे में कोई चर्चा हुई है. केजरीवाल हमारे नेता हैं और हम उनके दिशानिर्देश में काम करेंगे. बता दें कि मुख्यमंत्री की संभावित गिरफ्तारी का दावा दिल्ली की मंत्री आतिशी ने भी किया है, उन्होंने कहा कि पूछताछ के बाद उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा होगा, इसलिए नहीं कि एजेंसी के पास उनके खिलाफ कोई सबूत है, बल्कि इसलिए कि उन्होंने बीजेपी के खिलाफ बोला है. 

AAP के मंत्री के घर ED की तलाशी

गौरतलब है कि इस बीच दिल्ली सरकार के एक और मंत्री पर ईडी (ED Searching At Rajkumar Anand's House) का शिकंजा कस गया है. ईडी की टीम आज सुबह दिल्ली सरकार में समाज कल्याण मंत्री राजकुमार आनंद के घर पहुंची है. मंत्री के सिविल लाइंस स्थित आधिकारिक आवास पर ED की टीम तलाशी ले रही है. सूत्रों के अनुसार ED मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तलाशी ले रही है.