THN Network 


 
NEW DELHI: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि बहुत जल्द हमारी सरकार देश की राजधानी में प्रीमियम बसें चलाएंगी. इसका पीछे मुख्य मकसद दिल्ली में ट्रांसपोर्ट सिस्टम को विश्व स्तरीय बनाना है. यह फैसला ​इसलिए लिया गया है कि ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम से जोड़ा जा सके. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चूंकि दिल्ली ट्रैफिक बहुत ज्यादा है. दिल्ली में टू व्हीलर्स और कारों की संख्या बहुत ज्यादा है. इसे कम पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को बेहतर बनाकर ही किया जा सकता है. लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम से जोड़ने के ​उसे आरामदायक और सुरक्षित बनाना होगा. साथ ही यह भी तय करना होगा कि बसें समय से चलें. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में पहली क्रांति उस समय आई जब राजधानी में मेट्रो सेवा की शुरुआत हुई थी. उस समय दिल्ली में मिडिल क्लास और अपर क्लास के लोग भी अपनी गाड़ी पार्क कर मेट्रो से चलने लगे थे. प्रीमियम बस सेवा उसी दिशा में उठाया गया एक कदम है.इसके जरिए हम दिल्ली में शानदार ट्रांसपोर्ट सिस्टम विकसित करेंगे. सीएम ने कहा कि प्रीमियम बस सेवा को दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना के पास रखा जाएगा. उनसे इजाजत मिलने के बाद इस पर अमल किया जाएगा. अगर वो इस फाइल को राष्ट्रपति के पास नहीं भेजते हैं तो हम इस सेवा की शुरुआत बहुत जल्द कर देंगे. 

डीटीसी से ज्यादा होगा किराया

​प्रीमियम बस सेवा चलाने के लिए हमारी सरकार ने अलग से इसके लिए कानून बनाए हैं. इस योजना के तहत बस रूट हम तय  नहीं करेंगे. ये आपरेटर्स ही तय करेंगे. आपरेटर्स केवल हमें इस बात की सूचना देंगे वो बस किस रूट पर चलाना चाहते हैं. इलेक्ट्रिक बसों को वरीयता दी जाएंगी. यह केवल दिल्ली के लिए नहीं, बल्कि पूरे देश के मॉडल बस सेवा के रूप में उभरकर सामने आएंगी. उन्होंने कहा कि इसका किराया ​डीटीसी से ज्यादा होगा.