THN Network 



GURUGRAM: मेवात के नूंह में भड़की हिंसा की आग गुरुग्राम तक पहुंच गई है। 31 जुलाई की देर रात गुरुग्राम सेक्टर 56- 57 इलाके में करीब 100 लोगों की भीड़ ने अंडर कंस्ट्रक्शन धार्मिक स्थल में तोड़-फोड़ कर आग लगा दी।


इस हिंसा में धार्मिक स्थल में मौजूद एक शख्स की मौत हो गई, जबकि एक घायल हो गया। पुलिस की FIR के मुताबिक मरने वाले शख्स का नाम मोहम्मद साद था और वो बिहार का रहने वाला है।


FIR के मुताबिक रात 12:15 बजे गुरुग्राम सेक्टर-57 में बूम प्लाजा की तरफ से 100-120 लोगों की भीड़ धार्मिक नारे लगाते हुए आई। भीड़ ने सबसे पहले मौके पर मौजूद पुलिस पार्टी पर पथराव किया। इसके बाद पास ही धार्मिक स्थल में आग लगा दी।


भीड़ में शामिल लोगों ने धार्मिक स्थल में घुसकर फायरिंग भी की। इस दौरान अंदर मौजूद साद की मौत हो गई, जबकि खुर्शीद आलम नाम का एक शख्स पैर में गोली लगने से घायल हो गया।


मौके पर मौजूद हरियाणा पुलिस के ASI संदीप ने मामले की FIR दर्ज कराई है। इस केस में हमला करने वालों की पहचान कर ली गई है। हमले के बाद इलाके के धार्मिक स्थलों के आस-पास की सुरक्षा को मजबूत किया गया है।


धार्मिक स्थल पर तैनात थी पुलिस

घटना के बाद इजहार नाम का एक शख्स सामने आया है, जिसने दावा किया है कि हमले के दौरान वो भी धार्मिक स्थल के अंदर ही था। उसके मुताबिक, भीड़ ने हमला किया तब वहां 5 लोग मौजूद थे।


उसका दावा है कि भीड़ ने गोलियां चलाईं और साद को डंडे से पीटा। साद और खुर्शीद को भीड़ ने पकड़ लिया था, जबकि बाकी तीन लोगों ने छिपकर जान बचाई। इजहार ने बताया कि वह इस धार्मिक स्थल में केयरटेकर का काम करता है।