THN Network (Delhi / NCR Desk): 


दिल्ली विधानसभा के बजट सत्र के दौरान आज मंगलवार को भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया गया है। सत्ता पक्ष के प्रस्ताव पर विधानसभा अध्यक्ष से बहस करने पर उन्हें एक साल के लिए सदन से बाहर कर दिया गया।

एक्शन पर विजेंद्र गुप्ता बोले- यह मेरे साथ अन्याय

भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता पर आरोप है कि वह सदन नहीं चलने दे रहे और सदन में हंगामा करते हैं। इस एक्शन पर विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि यह उनके साथ अन्याय है। उन्होंने इस फैसला पर पुनर्विचार करने की अपील की। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष ने उनकी एक नहीं सुनी और विजेंद्र गुप्ता को सदन से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

भाजपा ने बजट पर चर्चा का किया विरोध

दिल्ली विधानसभा में विपक्ष की भूमिका में मौजूद भाजपा नेताओं ने विजेंद्र गुप्ता को सदन से निकाले जाने का विरोध कर रही है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जब बजट पेश नहीं हुआ तो चर्चा कैसी? विपक्ष ने बजट पर चर्चा का विरोध किया है। वहीं, सत्ता पक्ष के विधायक मुख्य सचिव, उपराज्यपाल और केंद्र सरकार को बजट न पेश हो पाने के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उधर, विपक्ष के सदस्य सदन का बहिष्कार कर बाहर चले गए।

इस दौरान सदन में आप विधायक संजीव झा ने बजट न पेश हो पाने के लिए केंद्र सरकार की निंदा की और प्रस्ताव रखा कि दिल्ली का बजट पेश न हो पाने के लिए मुख्य सचिव और वित्त सचिव की भूमिका की जांच के लिए मामला विशेषाधिकार समिति को सौंपा जाए। सदन की सहमति पर यह मामला इस समिति को सौंपा गया।

दिल्ली के बजट को गृह मंत्रालय ने दी मंजूरी

सियारी घमासान के बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से मंगलवार शाम को दिल्ली सरकार को बजट पेश करने की मंजूरी मिल गई है। इस संबंध में केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली सरकार को अवगत करा दिया गया है।