THN Network


नई दिल्ली.
राष्ट्रीय राजधानी में इस बार भी दिवाली पर पटाखे नहीं फोड़े जा सकेंगे. अरविंद केजरीवाल सरकार ने पटाखे फोडऩे पर प्रतिबंध जारी रखने का फैसला किया है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने यह जानकारी दी.

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, प्रदेश सरकार ने इस साल भी पटाखों के उत्पादन, भंडारण, बिक्री (ऑनलाइन बिक्री सहित) और पटाखे फोडऩे पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है. दिल्ली पुलिस को इसके लिए लाइसेंस की अनुमति न देने के निर्देश जारी किए गए हैं.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने फैसला किया है कि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए दिवाली के मौके पर पटाखों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए. किसी भी प्रकार के पटाखों का निर्माण, भंडारण, बिक्री, ऑनलाइन डिलीवरी और फोडऩा पूरी तरह से प्रतिबंधित है. त्योहार मनाना जितना महत्वपूर्ण है, पर्यावरण की देखभाल करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है. इसलिए हम पिछले 2 साल से दिल्ली में यह निर्णय ले रहे हैं और दिल्ली के लोग इसका समर्थन कर रहे हैं.

डीपीसीसी (दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति) की ओर से पुलिस को एक सर्कुलर जारी करने का निर्देश दिया गया है कि कोई लाइसेंस जारी नहीं किया जाए.

पटाखों के धुएं से बिगड़ता है दिल्ली का पर्यावरण

बढ़ते वायु प्रदूषण के कारण दिल्ली में पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है. पिछले साल भी यह प्रतिबंध लगाया गया था, हालांकि प्रतिबंध के बावजूद लोगों ने आतिशबाजी की थी. पिछले साल केजरीवाल सरकार ने इसको लेकर विस्तृत गाइडलाइन जारी की थी. तब पंजाब और हरियाणा समेत कई अन्य राज्यों में भी पटाखों को लेकर अलग-अलग गाइडलाइंस जारी की गई थी. बता दें, कुछ राज्यों में सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने की इजाजत है, जबकि कई राज्यों में पटाखे जलाने के लिए समय तय किया गया है.