THN Network (Delhi / NCR Desk): 



एमसीडी की स्टैंडिंग कमिटी के चुनाव से आम आदमी पार्टी (आप) को बड़ा झटका लगा है। बवाना से आप के पार्षद पवन सहरावत बीजेपी में शामिल हो गए हैं। इसके साथ ही बीजेपी ने स्टैंडिंग कमिटी में अपने 3 कैंडिडेट को जिताने लायक वोटों का जुगाड़ कर लिया है। बीजेपी को अपने तीन कैंडिडेट को जिताने के लिए 105 पार्षदों की जरूरत थी। उसके पास अभी तक 104 पार्षद थे लेकिन पवन के भगवा दल में शामिल होन से आंकड़ा 105 तक पहुंच गया है। दरअसल, इस चुनाव में आप और बीजेपी दोनों जोर लगा रही है। गौरतलब है कि मेयर के पद शैली ओबरॉय के चुने जाने के बाद स्टैंडिंग कमिटी का चुनाव नहीं हो पाया था। सदन में दोनों दलों के पार्षदों ने जबरदस्त हंगामा किया था।एमसीडी में गुरुवार को हुआ था जबरदस्त हंगामा

गौरतलब है कि गुरुवार को एमसीडी में स्टैंडिंग कमिटी के चुनाव को लेकर काफी हंगामा हुआ था। मेयर शैली ओबरॉय ने पहले पार्षदों को सदन में मोबाइल लाने की इजाजत दे दी फिर बीजेपी के विरोध के बाद उस आदेश को वापस ले लिया। हालांकि, तबतक काफी वोट डाले जा चुके थे। बीजेपी ने इसका काफी विरोध किया। फिर गुरुवार को रातभर सदन में हंगामा होता रहा।स्थायी समिति के वोटों का गणित

स्थायी समिति में 6 सदस्यों का चुनाव होना है। लेकिन इसबार कुल 7 सदस्य मैदान में है। आप की तरफ से 4 जबकि बीजेपी की तरफ से 3 पार्षद मैदान में है। एमसीडी एक्ट के अनुसार, एक प्रत्याशी को 35 वोट मिलने के बाद वह निर्वाचित हो जाएगा। ऐसे में अगर बीजेपी को अपने तीनों कैंडिडेट को जिताने हैं तो उसे 105 वोटों की जरूरत थी। अभी उसके 104 पार्षद थे। लेकिन सहरावत के पार्टी में शामिल होने के बाद उनके पार्षदों की संख्या 105 हो गई है। यानी मौजूदा गणित के तहत बीजेपी के तीनों सदस्य चुनाव जी जाएंगे। वहीं, आप के भी तीन सदस्य जीत तो जाएंगे लेकिन चौथे कैंडिडेट की जीत के लिए उसे 6 वोटों की दरकार है।