THN Network 


आम आदमी पार्टी (आप) के विधायकों ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा में एक उत्सव के दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ महिला कॉलेज की छात्राओं के साथ बदसलूकी का मुद्दा उठाया और राष्ट्रीय राजधानी में खराब कानून-व्यवस्था के लिए उपराज्यपाल को जिम्मेदार ठहराया.

बहस के बाद मार्शल की मदद से किए गए बाहर  

इस बीच, सदन में चर्चा के लिए उठाए जाने वाले मुद्दों पर विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल के साथ बहस के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चार विधायकों को मार्शल की मदद से सदन से बाहर कर दिया गया. ‘आप’ की विधायक भावना गौड़ ने दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ महिला कॉलेज में हाल ही में हुई घटना के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में महिला सुरक्षा तथा कानून-व्यवस्था का मामला उठाया. कई युवक कथित तौर पर कॉलेज की दीवारों पर चढ़ गए थे और उन्होंने छात्राओं के साथ बदसलूकी की थी.

आबकारी नीति पर चर्चा करना चाहते थे बीजेपी विधायक 

बीजेपी के सदस्य हालांकि अब निरस्त की जा चुकी आबकारी नीति सहित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चर्चा करना चाहते थे, लेकिन अध्यक्ष ने यह कहते हुए इसकी अनुमति नहीं दी कि इस पर पहले ही चर्चा हो चुकी है. गोयल ने कहा कि हमें इस बात से शर्मसार होना चाहिए कि महिला कॉलेज में कुछ युवक घुस गए और छात्राओं के साथ बदसलूकी की. क्या महिलाओं की सुरक्षा आपके लिए मायने नहीं रखती ? कॉलेज विधानसभा, मुख्यमंत्री आवास के पास है. गोयल ने भाजपा के सदस्यों से कहा कि अगर वे महिला सुरक्षा और दिल्ली की कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर चर्चा में हिस्सा नहीं लेना चाहते तो सदन से चले जाएं. बीजेपी के विधायकों के शांत न होने पर अध्यक्ष ने मार्शल से बीजेपी के विधायक जितेंद्र महाजन, अजय महावर, ओ. पी. शर्मा और मोहन सिंह बिष्ट को सदन से बाहर करने को कहा.