THN Network 

प्रभास और कृति सेनन की फिल्म आदिपुरुष पर विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। देश में अलग-अलग जगहों पर फिल्म का विरोध करने की खबरें आ रही हैं, वहीं काठमांडू में आदिपुरुष को बैन कर दिया गया है। महाराष्ट्र के पालघर में चलती स्क्रीनिंग रोकने की खबर आ चुकी है। 


ओम राउत के निर्देशन में बनी इस माइथोलॉजिकल फिल्म का विरोध करने वालों में अब फिल्मी संगठन भी शामिल हो गये हैं। 'ऑल इंडिया सिने वर्क एसोसिएशन' (All India Cine Workers Association) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक लेटर लिखकर 'आदिपुरुष' को बैन करने की मांग की है, साथ ही उसकी ओटीटी रिलीज रोकने की मांग भी रखी है। 


AICWA ने 'आदिपुरुष' पर बैन के लिए लिखा लेटर
समाचार एजेंसी एएनआई ने ऑल इंडिया सिने वर्क एसोसिएशन के खत की एक कॉपी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर है। इस लेटर के साथ बताया गया है कि ऑल इंडिया सिने वर्क एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक लेटर लिखते हुए उनसे ये गुजारिश की है कि फिल्म आदिपुरुष की स्क्रीनिंग को थिएटर में तुरंत बैन किया जाए, इसके साथ ही भविष्य में इसे किसी भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज न होने दिया जाए।

पीएम मोदी को लिखे गए इस लेटर में उन्होंने आगे लिखा, "हमें फिल्म के निर्देशक ओम राउत, डायलॉग राइटर मनोज मुंतशिर शुक्ला और फिल्म के निर्माताओं के खिलाफ FIR करवाने की जरूरत है।"

अनुराग ठाकुर ने 'आदिपुरुष' को लेकर कही थी ये बात
आपको बता दें कि इससे पहले केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने आदिपुरुष की रिलीज के बाद लोगों की भावनाएं आहत होने पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की थी।

फिल्म के विरोध को लेकर पूछे गये सवाल पर उन्होंने कहा था कि CBFC को इस पर जो निर्णय लेना था, उन्होंने ले लिया है। फिल्म के निर्देशक-निर्माता ने डायलॉग बदलने की बात कही है। लोगों की भावनाओं को आहत करने का अधिकार किसी को नहीं है। आपको बता दें कि विवादों के बीच भी आदिपुरुष ने रविवार तक अच्छा बिजनेस किया था। हालांकि, सोमवार को फिल्म का कलेक्शन 70 पर्सेंट के करीब गिरा है।