THN Network


पश्चिमी दिल्ली।
दिल्ली के तिलक नगर इलाके में महिला की हत्या कर शव फेंकने के मामले में तिलक नगर थाना पुलिस ने गुरप्रीत नामक युवक को गिरफ्तार किया है।
बताया जा रहा है कि गुरप्रीत उस कार में सवार था, जिस कार से तिलक नगर इलाके में महिला का शव फेंका गया था। 
गौरतलब है कि शुक्रवार सुबह स्कूल की दीवार के पास महिला का शव मिला था, उसके हाथ-पैर जंजीर से बंधे हुए थे। बताया जा रहा है कि महिला विदेश की रहने वाली है। 
पुलिस ने किए ये खुलासे
पुलिस ने बताया है कि उन्हें शुक्रवार को सुबह करीब 9 बजे एमसीडी स्कूल के बाहर शव मिलने की सूचना मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंची तो उन्होंने शव को कब्जे में ले लिया, साथ ही फोरेंसिक टीम, डीडीयू अस्पताल से डॉक्टर आदि को भी बुला लिया।

हालांकि शव की ऐसी हालत थी कि उस वक्त कोई भी कुछ नहीं कह सका कि हत्या कैसे हुई है। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और सीसीटीवी की जांच शुरू कर दी।

सीसीटीवी फुटेज क्या हुआ खुलासा?
सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को एक कार संदिग्ध लगी जिसका नंबर निकालकर तलाश की गई तो पता चला कि यह किसी सेकंड हैंड कार डीलर से एक महीने पहले कैश में खरीदी गई थी।

जब खरीदने वाले का पता लगाने की कोशिश हुई तो यह बात सामने आई कि कार एक अन्य महिला का आधार लगाकर गुरप्रीत नाम के शख्स ने खरीदी थी। इस तरह पुलिस ने गुरप्रीत को गिरफ्तार किया।
क्या करता है आरोपी गुरप्रीत?
डीसीपी वेस्ट, विचित्र वीर ने बताया कि अब तक हुई पूछताछ में यह पता चला है कि गुरप्रीत की कोई रेगुलर नौकरी नहीं है। वह कभी प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है, कभी दोस्तों से उधार लेकर खर्च चलाता है।

जब पुलिस से पूछा गया कि गुरप्रीत कितनी बार स्विट्जरलैंड गया है तो पुलिस ने कहा कि यह अभी जांच का विषय है और पूरी जांच होने पर ही वह कुछ कह सकेंगे।

क्यों रखीं दो कार?
डीसीपी ने बताया कि गुरप्रीत ने दो कार रखी हुई थी। एक कार का इस्तेमाल उसने लाश को ठिकाने लगाने के लिए किया था। दूसरी कार वह खुद इस्तेमाल कर रहा था।

सूत्रों से भी आ रहीं कुछ खबरें
वहीं न्यूज एजेंसी एएनआई ने पुलिस सूत्रों के हवाले से यह बताया है कि महिला स्विट्जरलैंड की रहने वाली थी। गुरप्रीत और मृतका की मुलाकात वहीं हुई थी। गुरप्रीत ने महिला का हाथ-पैर बांधकर उसका कत्ल किया।

फिर उसने लाश को ठिकाने के लिए एक पुरानी कार खरीदी, जिसमें शव को रखा। जब शव से बदबू आने लगी तो उसने कार ले जाकर सड़क किनारे शव को फेंक दिया। सूत्रों के हवाले से तो खबर ये भी है कि आरोपी के पास से दो करोड़ रुपये मिले हैं। हालांकि डीसीपी ने इस बात की पुष्टि तो की है कि पैसे मिले हैं लेकिन कितने हैं ये नहीं बताया।